Monday, April 23, 2012

गुड़िया के लिये


गुड़िया के लिये

गोरी चिट्टी नटखट गुड़िया
दो  चोटियों वाली,
चार बरस की हुई आज है
मुस्काते गालों वाली !

खेल-खिलौनों में मस्त 
जो मन मोहक बातें बोले,
माँ-पापा को कर हैरान 
घर भर में सदा डोले !

मित्रों पर है जान छिड़कती
घर में उन्हें बुलाया है,
टीचर को भी दिया निमंत्रण
जन्मदिन जो आया है !

सबसे तुमको मिलें दुआएं
ऐसे ही बढ़ती जाओ
नई-नई सीख कर बातें
उम्र की सीढ़ी चढ़ती जाओ !



 

3 comments:

  1. स्वागत व आभार हर्षिता जी व कमल जी

    ReplyDelete