Thursday, September 30, 2021

जन्मदिन पर



जन्मदिन पर

 

माह जुलाई का आया तो

संग अपने परिवर्तन लाया,

योग पुनः आया जीवन में

कुक ने हल्का फ़ूड खिलाया !

 

वरना कोरोना हावी था

हफ़्तों जिसने घर बैठाया,

फिर शेफाली की थाली से

बैठे-ठाले वजन बढ़ाया !

 

अब गाड़ी पटरी पर आयी

जीवन फिर से चल निकला है,

काम के साथ और भी कुछ है

हर मुश्किल का हल निकला है !

 

प्रैक्टो का यह साल बारहवाँ

नए नए कीर्तिमान बनाए,

ऑन लाइन का युग आया है

डाक्टर घर बैठे मिलवाए !

 

काम भी है और सेवा भी है

दोनों हाथ में लड्डू अपने,

जल्दी ही सब हो नार्मल 

फिर से देखें कल के सपने !

 

अभी तो आज में ही जीना है

नित्य ही नयी चुनौती आती,

मन में जोश मस्तिष्क में हल ले

हर दिन क़िस्मत रंग दिखाती !


Wednesday, April 28, 2021

जन्मदिन तो एक बहाना है

प्रिय भाई के लिए जन्मदिन पर 

शुभकामनाओं सहित

अर्द्धशतक पार हुआ जीवन का

पर बचपन अभी तक थामे है अंगुली

आँखों में वही शरारत

..और अधरों पर छलकती हँसी

उल्लास का हाथ थामा है

बनाया है मीत सत्य को..

हर पल घटते उत्सव की तरह

जीया है जीवन.. पाया भीतर अनंत को

जन्मदिन तो एक बहाना है

हर दिन गीत यही गाना है

इसी दिन सागर में जो लहर उठी थी

मुबारक हो खुशियाँ उसे इस सुंदर संसार की

इस जगत में ‘होना’ मात्र ही सार्थक हो जिसका

अभाव होगा भला उसे किसका..

फिर भी..जन्मदिवस पर हार्दिक शुभकामनायें 

Sunday, April 18, 2021

कब आयेगा राजकुमार

भांजी के लिए 

 


अखियों में बसा इंतजार

कब आयेगा राजकुमार,

ले जायेगा सँग में उसको

और जताएगा इकरार !

 

दर्पण में निहारे खुद को

सुंदर पाया चेहरा मोहरा,

अध्ययन तो पूर्ण हो गया 

कब छंटेगा दिल से कोहरा !

 

स्कूल में थी तो दौड़ लगाती

अब दौड़ने से घबराए,

बॅाली-बॉल, कबड्डी खेली

अब सखियों सँग मौज मनाये !

 

है मोबाइल सँग दोस्ती

एस.एम.एस. के तोड़े रिकॉर्ड,

चेतन भगत प्रिय लेखक है

याद किया करती है गॅाड !

 

पावभाजी जब मिल जाये

मुख में पानी भर भर जाये,

हर गुरुवार को मंदिर जाके

शिरडी सांई को रिझाये ! 

Sunday, April 4, 2021

दिल में बसी ईश की चाहत

 

पिताजी के लिए जन्मदिन पर
उम्र हुई, तन करे शिकायत
कभी-कभी मन भी हो आहत,
लेकिन आत्मज्योति प्रज्वलित है
दिल में बसी ईश की चाहत !
 
अब भी दिनचर्या नियमित है
ब्रह्म मुहूर्त में उठ जाते,
पीड़ा हँस कर सहना आता
औरों को भी राह दिखाते !
 
प्रभु भजन से सुबह सँवरती
दिन भर ही अध्ययन चलता है,
सुर संगीत का साथ पुराना
जिससे संध्या काल ढलता है !
 
संतानों को स्नेह बांटते 
नाती-पोती संग मुस्काते,
निज नाम सार्थक करके
सदा सहाय बन कर रहते !
 
नानक ने जो राह दिखाई
सदा उसी पर चले हैं आप,
जन्मदिन पर लें बधाई
हमें आप पर है अति नाज !

Thursday, March 18, 2021

सीधी, सरल, प्रेममयी वह

जन्मदिन पर शुभकामना सहित 


पढना, लिखना, गुनना, भाता

भीतर की दुनिया की राही,

सत्य नजर से देखे दुनिया,

सुख की नई परिभाषा पाई !

 

अब जब नीड़ हुआ है खाली,

बच्चे कभी-कभी आते हैं,

घर में एक मन्दिर बनाया,

पर्व पड़ोसियों संग मनते हैं !

 

मोह नहीं गहनों, वस्त्रों का

मुक्त हृदय की है स्वामिनी,

मुखड़ा आत्म ज्योति से दमके,

 अधरों पर आनन्द रागिनी !

 

सीधी, सरल, प्रेममयी वह

मिलने वालों का दिल छूती,

तप कर सोना और निखरता,

दर्प, गर्व से सदा अछूती ! 

Sunday, February 28, 2021

करुणा के भावों से भरकर

जन्मदिन पर शुभकामनाएं  

धैर्य अनंत हृदय में धारे

इस जीवन में विचरा करते,

करुणा के भावों से भरकर 

अनायास  सुख जग में भरते !


हैं निस्वार्थ सुकर्म जो किये  

मित्रता को सदा निभाया, 

तन, मन, धन से मुक्त हृदय हो 

जीवन में हर रोल निभाया !


भूतपर्व सहकर्मी अब भी 

स्मरण मार्गदर्शन का करते, 

नए परिवेश में ढाल लिया  

मधुर रंग जीवन में भरते !


साफ-सफाई चहूँ ओर हो

बगिया सुंदर एक बनायी,

पाक कला में हो पारंगत 

साउथ इंडियन डिश बनायी !


बुजुर्गों के लिए आदर है 

सदा सहायता को तैयार, 

घर के सभी कार्य कर लेते  

खुशी मिले जीवन में अपार !  


Sunday, February 14, 2021

सारी दुनिया अपनी है - शुभकामनाएं

प्रिय भांजे के लिए 
जन्मदिन पर ढेर सारी शुभकामनाओं के साथ

 
तुम्हारे नाम में छिपा है 
एक गांभीर्य और साथ ही एक असंगता 
जो ले गई है घर व देश से दूर 
क्योंकि तुम्हारे लिए सारी दुनिया ही अपनी है 
या कुछ भी अपना नहीं 
भरोसा है तुम्हें अपनी अंदरूनी ताकत पर 
तकनीकी ज्ञान से ही नहीं आती जो 
जिसमें छिपा है माँ-पिता का असीम दुलार और आशीष 
और अब साथ है उस संगिनी का 
जो जीवन के पथ को भर देती है अपनी मुसकानों से 
भाई-भाभी, भतीजियों से सत्कार सदा पाया है 
बहनों ने भी छोटे भाई पर 
अपार स्नेह लुटाया है 
इसी तरह रोशन करो 
तुम भविष्य की राहें 
जन्मदिन पर हम देते हैं ढेर सारी दुआएं !