Wednesday, April 28, 2021

जन्मदिन तो एक बहाना है

प्रिय भाई के लिए जन्मदिन पर 

शुभकामनाओं सहित

अर्द्धशतक पार हुआ जीवन का

पर बचपन अभी तक थामे है अंगुली

आँखों में वही शरारत

..और अधरों पर छलकती हँसी

उल्लास का हाथ थामा है

बनाया है मीत सत्य को..

हर पल घटते उत्सव की तरह

जीया है जीवन.. पाया भीतर अनंत को

जन्मदिन तो एक बहाना है

हर दिन गीत यही गाना है

इसी दिन सागर में जो लहर उठी थी

मुबारक हो खुशियाँ उसे इस सुंदर संसार की

इस जगत में ‘होना’ मात्र ही सार्थक हो जिसका

अभाव होगा भला उसे किसका..

फिर भी..जन्मदिवस पर हार्दिक शुभकामनायें 

No comments:

Post a Comment